बस तेरी बस तेरी धूम धाम है – Dhoom Dhaam Lyrics

ज़रा पूछ क्या दिल में
मेरे सुबहो शाम है
ज़रा पूछ क्या दिल में
मेरे सुबहो शाम है

बस तेरी बस तेरी धूम धाम है
बस तेरी बस तेरी धूम
बस तेरी बस तेरी धूम धाम है
बस तेरी बस तेरी धूम

हर जगह अब दिक्खे तू
अपने दिल का भी काम तमाम है

बस तेरी बस तेरी धूम धाम है
बस तेरी बस तेरी धूम
बस तेरी बस तेरी धूम धाम है
बस तेरी बस तेरी धूम

ज़रा पूछ क्या दिल में मेरे सुबहो शाम है

बस तेरी बस तेरी धूम धाम है
बस तेरी बस तेरी धूम
बस तेरी बस तेरी धूम धाम है
बस तेरी बस तेरी धूम

हर जगह अब दिक्खे तू
अपने दिल का भी काम तमाम है

बस तेरी बस तेरी धूम धाम है
बस तेरी बस तेरी धूम
बस तेरी बस तेरी धूम धाम है
बस तेरी बस तेरी धूम

क्या बताऊँ क्या है जादू
तेरी सारी बातों में
सोचती रहती हूँ अक्सर
तुझको तन्हा रातों में

नींदों में तू, ख्वाबों में तू
साँसों में तू बस्ती है
यादों में तू लम्हों में तू
आँखों में तू हंसती है
हर जगह अब दिक्खे तू
अपने दिल का भी काम तमाम है

बस तेरी बस तेरी धूम धाम है
बस तेरी बस तेरी धूम
बस तेरी बस तेरी धूम धाम है
बस तेरी बस तेरी धूम

मेरी गलियां मेरा रस्ता
तू ही मेरी मंज़िल है
मेरी दुनिया मेरी जन्नत
तू ही मेरा साहिल है

देखूं तुझे चाहूँ तुझे
एक पल न फुर्सत हो
यही दुआ, मांगू सदा
तू न कभी अब रुखसत हो
हर जगह अब दिक्खे तू
अपने दिल का भी काम तमाम है

बस तेरी बस तेरी धूम धाम है
बस तेरी बस तेरी धूम
बस तेरी बस तेरी धूम धाम है
बस तेरी बस तेरी धूम

ज़रा पूछ क्या दिल में मेरे सुबहो शाम है

बस तेरी बस तेरी धूम धाम है
बस तेरी बस तेरी धूम
बस तेरी बस तेरी धूम धाम है
बस तेरी बस तेरी धूम

Leave a Comment